भगवान पशुराम को लेकर यू पी में हुई राजनीति तेज़,सपा के बाद बसपा ने कहा हम बनायेंगे भव्य मूर्ति,जानते है कौन है भगवान परशुराम !

Spread the love

नई दिल्ली,10-08-2020.

इन दिनों यू पी में भगवान परशुराम को लेकर खूब राजनीति हो रही है कहा जा रहा है कि ये ‘ब्राह्मण’ समाज लुभाने की कोशिश हो रही है ! 

जहाँ कुछ दिन पहले सपा ने भगवान परशुराम की भव्य मूर्ति बनाने की बात कही वही कल बसपा की अध्यक्ष मायावती ने कहा हम सपा से भी ऊँची मूर्ति बनवायेंगे परशुराम की,इसके बाद से ही राजनीति गरम हो गयी है ओर कहा जा रहा है कई ये ब्राह्मण समाज को लुभाने की कोशिश की जा रही हैं! 

वैसे यूपी में करीब 11 फीसदी ‘ब्राह्मण वोट’ हैं!

जानते है कौन है भगवान परशुराम ?

आपको बता दे कि भगवान परशुराम को विष्णु भगवान का छठा अवतार माना गया है,जहाँ भगवान परशुराम का जन्म सतयुग और त्रेता के संधिकाल में करीब 5142 वि.पू. में वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हुआ माना जाता है!  
परशुराम ऋषि जमदग्नि और रेणुका की संतान थे,ऋषि जमदगिनि के परशुराम समेत पांच पुत्र थे! 

परशुराम ने शास्त्रों की शिक्षा अपने दादा ऋचीक और पिता जमदग्नि से ग्रहण की, वहीं उन्होंने शस्त्र चलाने की शिक्षा राजर्षि विश्वामित्र से ग्रहण की! 
परशुराम योग, वेद और नीति में पारंगत थे!

मान्यता है कि भगवान परशुराम ने 21 बार धरती से क्षत्रियों से मुक्त कर दिया!  हालांकि, यह धारणा गलत बताई जाती है! 

चिरंजीवी हैं परशुराम

कहा जाता है कि भगवान परशुराम चिरंजीवी हैं! उन्होंने कठिन तप किया था जिसके बाद भगवान विष्णु ने उन्हें चिरंजीव होने का वरदान दिया था !

Related posts

Leave a Comment