पंकज त्रिपाठी/अली फैज़ल की मिर्ज़ापुर-2 का रिव्यु…

Spread the love

मूवी:- मिर्ज़ापुर 2

रेटिंग सेक्शन:-
• स्टोरी:- 4.25/5
• एक्टिंग:- 4.5/5
• डायरेक्शन:- 4.5/5
• ओवरऑल:- 4.5/5

रिलीज डेट:- 22/10/2020

प्लेटफार्म:- अमेज़न प्राइम
एपिसोड्स:- 10

डायरेक्टर:- पुनीत कृष्णा
कहानीकार:- करण अंशुमन, गुरमीत सिंह

कलाकार:- कुलभूषण खरबंदा, पंकज त्रिपाठी, राजेश तेलंग,
अली फज़ल, दिव्येन्दु शर्मा, विजय वर्मा, अंजुम
शर्मा, प्रियांशु पैन्यूली, रसिका दुग्गल, श्वेता त्रिपाठी,
ईशा तलवार, हर्षिता गौर, आसिफ खान, अमित
सियाल

जॉनर:- सस्पेंस-थ्रिलर, क्राइम-एक्शन

मिर्ज़ापुर 2 मतलब “बदला” और अगर फैंस की तरह बोलें तो पूरा “भौकाल”।

मिर्ज़ापुर का पहला सीजन नवंबर 2018 में अमेज़न प्राइम पर रिलीज हुआ था। उसके बाद तकरीबन 2 साल तक फैंस को मिर्ज़ापुर 2 का इंतज़ार करना पड़ा। मिर्ज़ापुर ने भी अपने दर्शकों को निराश नहीं किया और पूरी तरह से उम्मीदों पर खरा उतरा है।

मिर्ज़ापुर 2 की कहानी वहीं से शुरू होती है जहाँ से मिर्ज़ापुर 1 ने छोड़ा था। कालीन भैय्या(पंकज त्रिपाठी) जो कि बाहुबली हैं वो अपनी पावर को बढ़ाना चाहते हैं।

वहीं मुन्ना त्रिपाठी (दिव्येन्दु शर्मा) मिर्ज़ापुर के किंग बनना चाहते हैं। गुड्डू पंडित(अली फज़ल) और गोलू गुप्ता(श्वेता त्रिपाठी) अपनों का बदला लेना चाहते हैं। कहानी लगभग सबको मालूम ही है और ज्यादा कुछ नया प्रॉमिस नहीं करती है पर हाँ, निराश भी नहीं करती है।

अब बात करते हैं मिर्ज़ापुर 2 के प्लॉट के बारे में जो कि एक दम सीधा है लेकिन इसमें कुछ नए किरदार और नई जगह जोड़ी गयी है। इसे आगे बढ़ाने के लिए मिर्ज़ापुर से बाहर निकलकर इसमें बिहार और लखनऊ को भी शामिल किया गया है। इसे खत्म उस मोड़ पर किया गया है जहाँ से हमें सीजन 3 का एक बार फिर से इंतज़ार करना होगा।

अगर कलाकारों के परफॉरमेंस की बात करें तो मैं इसे दो वर्गों में देखता हूँ। पहला सीनियर एक्टर्स का वर्ग है जिसमें कुलभूषण खरबंदा, पंकज त्रिपाठी, राजेश तेलंग, रसिका दुग्गल, अमित सियाल जैसे बेमिसाल लोग शामिल हैं। सभी ने अपने अपने रोल को बखूबी पकड़कर रखा है।

पंकज “मैजिकल” त्रिपाठी जी “कालीन भैय्या” के बाहुबली वाले किरदार में पूरी तरह से रमे हुए हैं। अगर मिर्ज़ापुर एक पेड़ है तो वो उस पेड़ का मोटा तना हैं।

दूसरा वर्ग है युवा वर्ग जिसमें अली फज़ल, दिव्येन्दु शर्मा, श्वेता त्रिपाठी, प्रियांशु, विजय, ईशा, और अंजुम शर्मा शामिल हैं। अली फज़ल और दिव्येन्दु शर्मा ने अपने पहले सीज़न वाला जादू इसमें भी बनाकर रखा हुआ है।

मेरे लिए इसमें सबसे प्रभाव प्रियांशु, विजय वर्मा और अंजुम शर्मा ने किया है। इन्हें हम अगले सीजन में थोड़े बड़े रोल में जरूर देखेंगे। श्वेता त्रिपाठी ने भी अपना “भौकाल” रूप दिखाया है।

इसमें कोई एक निर्देशक नहीं है। इसके हर एपिसोड को अलग अलग लोगों ने डायरेक्ट किया है। इसकी कहानी तो हम सबको पहले सीजन से ही मालूम थी।

कुल मिलाकर मिर्ज़ापुर 2 अपने 2 साल के इंतज़ार को पूरी तरह से जस्टिफाई करता है। इसके डॉयलोगों ने इसकी अलग पहचान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

Related posts

Leave a Comment