‘डॉ कफील खान पर लगे राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के आरोप रद्द, तुरंत रिहाई के आदेश…

Spread the love

प्रवीण झा:
दिल्ली

‘डॉ कफील खान का भाषण घृणा या हिंसा को बढ़ावा नहीं देता, यह राष्ट्रीय अखंडता और नागरिकों की एकता का आह्वान करता है’: इलाहाबाद हाईकोर्ट

ऊपर लिखे गए शब्द माननीय इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा कहे गए जब अदालत गोरखपुर के डॉ. कफ़ील खान पर लगे राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के आरोपों पर सुनवाई कर रही थी I

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने साफ़ शब्दों में कहा की 13 दिसम्बर 2019 को अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय में डॉ. कफ़ील खान के द्वारा दिया गया भाषण जिसकी वज़ह से उन्हें गिरफ्तार किया गया और बाद में उनपर एनएसए की कारवाई भी की गई उस भाषण में,

“नफरत या हिंसा को बढ़ावा देने के किसी भी प्रयास का खुलासा नहीं करता है।”

इस मामले की सुनवाई इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ़ जस्टिस गोविंद माथुर और जस्टिस सौमित्र दयाल सिंह की डिवीज़न बेंच द्कवारा की जा रही थी I इस मामले में माननीय अदालत ने अब डॉ. कफ़ील खान की तुरंत रिहाई के आदेश दिए हैं I

Related posts

Leave a Comment