माफ़ी माँगने में कोई झिझक नहीं-उर्मिला मातोंडकर…

Spread the love

पिछले कुछ टाइम से जो छीछालेदर मचाई गई वो सोशल मीडिया पर मौजूद सभी लोगो को रट चुकी है, ऐसा लग रहा है इस देश में सबका आख़िरी मकसद चुनाव लड़ना है और इस मकसद को पूरा करने के लिए कोई कुछ भी बोल देता है I

सुशांत सिंह राजपूत कि दुःखद मौत से उनके पूरे परिवार सहित पूरे देश को एक मानसिक आघात पहुँचा, जाँच एजेंसी मामले की जाँच में जुटी है और कोई भी ऑफिसियल स्टेटमेंट उनकी तरफ से नहीं आया है I

लेकिन इस मामले में जितने डिटेक्टिव देश को मिले हैं मुझे लगता है सबका सपना बचपन से सीबीआई में जाने का था, तू-तू मैं-मैं की लड़ाईयां सब चालू है I

ये मामला अलग चल रहा था और फिर इसमें एंट्री हुई अभिनेत्री कँगना रानौत की जिन्होंने शुरुआत सुशांत सिंह राजपूत कि मृत्यु की बात से की लेकिन वो कब सियासी हो गई उनको ख़ुद समझ नहीं आया होगा I महाराष्ट्र सरकार से सीधा टकराव हो या बीएमसी का उनका ऑफिस तोड़ देना सब दूध-भात में बदल गया I

कंगना को इसी बीच Y प्लस सिक्यूरिटी से नवाज़ा गया उसके बाद से उनके तेवर एकदम तीख़े हो रखे हैं अपनी ही इंडस्ट्री के ख़िलाफ़, वैसे इस मामले में रोज़ किसी ना किसी की एंट्री से जनता का मनोरंजन किया जा रहा है I

2 दिन पहले भाजपा सांसद रवि किशन और सपा सांसद जया बच्चन की कट्टी हो गई दोनों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाये और फिर कल इसमें जया प्रदा जी का भी स्टेटमेंट आ गया I

जनता कंफ्यूज है और अब मैं भी कंफ्यूज हो चुका हूँ I

खैर उर्मिला मातोंडकर ने कंगना रानौत पर तीखा हमला किया और उन्होंने कँगना को एक संदर्भ में रुदाली (हमेशा रोने वाले लोग) तक कह दिया उसके बाद कँगना गुस्सा हो गई और उन्होंने उर्मिला जी को सॉफ्ट पोर्न स्टार तक कह दिया I

लेकिन अब उर्मिला मातोंडकर का बयान आया है और उन्होंने कहा है कि,

“किसी को यह अपमानजनक लगा तो…मुझे यह कहने में झिझक नहीं कि मैं माफी मांगती हूं…उनसे नहीं लेकिन उन्हें प्यार करने वाले प्रशंसकों से।”

पता नहीं ये मामले कब ख़त्म होंगे और लड़ाईयां बंद होंगी क्यूंकि अब ये कुछ और होता चला जा रहा है लोग अपनी पर्सनल खुन्नस निकाल रहे हैं I

लेकिन मुझे इंतज़ार सुशांत सिंह राजपूत केस की गुत्थी सुलझने का है जिसे बहुत से लोग या तो भूल चुके हैं या उन्होंने अपना पर्सनल गोल सेट करने के लिए बाक़ी सब बातें करनी शुरू कर दी हैं सुशांत के अलावा I

न्याय व्यवस्था पर भरोसा ही सारी घुत्थियाँ खोलेगा जनता को भरोसा रखना चाहिए और शोर से दूरी बना लें I

Related posts

Leave a Comment