रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राजसभा में कहा,चीन की ‘कथनी और करनी’ में अंतर है,शांति पूर्ण समाधान चाहते है

Spread the love

नई दिल्ली: भारत चीन विवाद के बीच आज राजनाथ सिंह में राजयसभा ने ब्यान दिया है,लद्दाख के पूर्वी क्षेत्र में चीन की सेना के साथ हो रहे गतिरोध के बीच आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य सभा में कहा है कि भारत शांतिपूर्ण तरीके से सीमा मुद्दे के हल के लिए प्रतिबद्ध है|

रक्षा मंत्री ने कहा कि हमने राजनयिक और कूटनीतिक माध्यम से पड़ोसी देश को बता दिया है कि यथास्थिति में एकतरफा ढंग से बदलाव का कोई भी प्रयास अस्वीकार्य होगा|

राजनाथ सिंह ने कहा कि दुनिया में कोई भी ताकत नहीं जो भारतीय सेना की पेट्रोलिंग से रोक दे |

राजनाथ सिंह ने पूर्वी लद्दाख की स्थिति पर राज्यसभा में अपने बयान में कहा

‘‘चीन की गतिविधियों से पूरी तरह से स्पष्ट है कि उसकी ‘कथनी और करनी’ में अंतर है, क्योंकि जब बातचीत चल रही थी तब उसने यथास्थिति को बदलने का प्रयास किया जिसे हमारे सैन्य बलों ने विफल कर दिया | ’’

वही रक्षा मंत्री ने कहा है कि ‘‘ हम पूर्वी लद्दाख में चुनौती का सामना कर रहे हैं, लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं है कि हमारे वीर जवान इस चुनौती पर खरे उतरेंगे|

हम मुद्दे को शांतिपूर्ण ढंग से हल करना चाहते हैं और हम देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को लेकर पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं|

रक्षा मंत्री के इस बयान के बाद सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि देश की एकता और अखंडता के मुद्दे पर हम सब एक हैं|

कांग्रेस नेता आजाद ने कहा कि उनकी पार्टी (कांग्रेस) चीन के साथ विवाद के मुद्दे पर सरकार के साथ पूरी तरह से खड़ी है,लेकिन कोई समझौता नहीं होना चाहिए और अप्रैल में वे (चीनी सैनिक) जहां थे, उन्हें वहीं जाना चाहिए,यह हमारा प्रयास होना चाहिए|

Related posts

Leave a Comment