उत्तराखंड त्रासदी पर उमा भारती ने दिया बड़ा बयान – मैं हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट शुरू करने के खिलाफ थी

Spread the love

उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने से बड़ी तबाही हुई है| जहाँ मौके पर बचाव दल मौजूद है और बताया जा रहा है कि 150 से अधिक लोग अब तक लापता हैं|


इसी बीच बीजेपी नेत्री उमा भारती ने बड़ा बयान दिया है| जहाँ उन्होंने कहा है कि वो मंत्री रहते हुए गंगा और उसकी प्रमुख सहायक नदियों पर बांध बनाने की योजना के खिलाफ थी|

साथ ही उन्होंने रविवार को एक ट्वीट में कहा कि ग्लेशियर टूटने से हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट को भी भारी नुकसान पहुंचा है|

उन्होंने आगे लिखा, “मैं इस घटना से बेहद दुखी हूं. उत्तराखंड देवभूमि है. वहां के लोग बहुत कठिनाई से जीवन जीकर तिब्बत से लगी सीमाओं की रक्षा के लिए सजग रहते हैं. मैं उन सबकी रक्षा के लिए भगवान से कामना करती हूं|”

उमा भारती ने ट्वीट कर कहा, “जिला चमोली, रुद्रप्रयाग, पौड़ी सहित सभी जिलों में रहने वाले अपने आत्मीय लोगों से अपील करती हूं कि इस आपदा से प्रभावित लोगों की रक्षा व सेवा कार्यों में लग जाइए|”

इस अलावा, उन्होंने कहा कि इस आपदा की घड़ी में एकजुट रहने की आवश्यकता है|

Related posts

Leave a Comment