Photos: निजामुद्दीन दरगाह पर दिखा बसंतोत्सव, मज़ार पर चढ़ाई गई पीली चादर

Spread the love

हर वर्ष माघ माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी को बसंत के स्वागत के रूप में मनाया जाता है| इस दिन देवी सरस्वती की पूजा भी की जाती है|

बसंत पंचमी के त्योहार के साथ ही बसंत के मौसम की शुरुआत हो जाती है|

हिंदुस्तान के प्रसिद्ध सूफी संत हजरत ख्वाजा निजामुद्दीन औलिया की दरगाह पर हर साल की तरह इस साल भी बसंत पंचमी का उत्सव देखने को मिला|

जहाँ उन्हें पिली चादरें और पीले फूल चढ़ाये गए |

बता दें कि ऐसा हजरत ख्वाजा निजामुद्दीन औलिया के जीवन काल से ही हो रहा है| यह दिन हिन्दुस्तान में हिन्दू-मुस्लिम एकता और भाईचारे को बढ़ावा देता है|

सूफी संत हजरत ख्वाजा निजामुद्दीन औलिया की दरगाह पर बसंत पंचमी हर साल उन पर पीली चादर और पीले फूल चढ़ा कर मनाया जाता है |

Related posts

Leave a Comment